Electric Vehicle in Hindi | इलेक्ट्रिक व्हीकल की जानकारी हिंदी में

इलेक्ट्रिक व्हीकल की जानकारी हिंदी में (Electric Vehicle in Hindi) लगातार बढ़ते हुए पेट्रोल डीजल के दाम से राहत दिलाने में इलेक्ट्रिक व्हीकल (Electric vehicle in hindi) काफी कारगर साबित हो रहे हैं। आइए जानते हैं इलेक्ट्रिक व्हीकल्स क्या है और इलेक्ट्रिक व्हीकल्स खरीदने के क्या फायदे हैं?

Electric Vehicle in Hindi – इलेक्ट्रिक व्हीकल की जानकारी हिंदी में

इलेक्ट्रिक व्हीकल (Electric vehicle) ऐसे वाहन है जो की इलेक्ट्रिक मोटर द्वारा चलते हैं। यानी की इन गाड़ियों में प्रेट्रोल या डीजल इंजन का प्रयोग नही किया जाता है, बल्कि इलेक्ट्रिक वेहिकल को चलाने के लिए बैटरी का प्रयोग किया जाता है। और इसे पुनः चार्ज भी किया जा सकता है।

Hindi Electric Vehicle Favicon (हिंदी इलेक्ट्रिक व्हीकल)
Hindi Electric Vehicle Favicon (हिंदी इलेक्ट्रिक व्हीकल)

और सबसे खास बात यह है कि इन इलेक्ट्रिक वाहनों में प्रदूषण नही होता है। क्योंकि इसे चलाने के लिए किसी भी प्रकार के ईधन का प्रयोग नही किया जाता है। जिससे वायु प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण होने का कोई भी खतरा नही होता है।

इलेक्ट्रिक वाहन कितने प्रकार के होते है? Types of electric vehicle

Electric vehicle 3 प्रकार के होते हैं जिनका विवरण नीचे दिया गया है-

हाइब्रिड इलेक्ट्रिक व्हीकल (Hybrid Electric Vehicles)

इस प्रकार के इलेक्ट्रिक व्हीकल पेट्रोल और इलेक्ट्रिसिटी दोनों के पावर से चलते हैं। इसमे बैटरी को चार्ज करने के लिए गाड़ी की खुद के ब्रेकिंग सिस्टम से इलेक्ट्रिक पावर जनरेट होती है। इस प्रक्रिया को रीजनरेटिव ब्रेकिंग कहा जाता है।

आपने देखा होगा की गाड़ियों में लाइट, इंडीगेटर, हॉर्न AC इत्यादि भी लगे होते है जिन्हें चलाने के लिए बिजली की भी जरूरत होती। तो इन्हें वो बिजली बैटरी से ही तो मिलती है।

प्लग-इन हाइब्रिड इलेक्ट्रिक व्हीकल (Plug-in Hybrid Electric Vehicles)

इस प्रकार के वाहनों को पेट्रोल और बिजली दोनों तरीकों से ऊर्जा मिलती है। इन इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को हम रीजेनरेटिव ब्रेकिंग और प्लगिंग-इन के जरिए एक्सटर्नल इलेक्ट्रिक चार्जिंग आउटलेट से भी चार्ज कर सकते हैं। लेकिन जब इनकी चार्जिंग कम होने लगती है, तो ऐसे मे पेट्रोल इंजन बैटरी को दोबारा से चार्ज करने लगता है जिससे इनकी रेंज बढ़ जाती है।

बैटरी इलेक्ट्रिक व्हीकल (Battery Electric Vehicle)

बैटरी इलेक्ट्रिक व्हीकल पूरी तरह से इलेक्ट्रिक व्हीकल होते हैं। जो सिर्फ और सिर्फ इलेक्ट्रिक पावर से ही चलतें हैं। क्योंकि इलेक्ट्रिक व्हीकल्स में किसी भी प्रकार का फ्यूल टैंक नहीं होता है। और Fuel tank की जगह बैटरी लगाई जाती है। जिससे इनको पावर मिलती है। तथा  इन वाहनों को Plug-in EV के नाम से भी जाना जाता है। क्योंकि इनकी बैटरी को चार्ज करने के लिए बाहरी इलेक्ट्रिक चार्जिंग आउटलेट का इस्तेमाल करना पड़ता है। और ये अन्य वाहनों की तुलना में काफी सस्ता होता है।

यह भी जानें – गाड़ी किसके नाम है कैसे पता करें मोबाइल से?

इलेक्ट्रिक गाड़ियों में किस प्रकार की बैटरी का प्रयोग किया जाता है?

इलेक्ट्रिक व्हीकल के फायदे क्या है? Benefits of Electric Vehicles in Hindi

महँगे पेट्रोल से छुटकारा

इलेक्ट्रिक व्हीकल्स लगातार बढ़ते हुए पेट्रोल डीजल की महगाई से आपको छुटकारा दिलाएंगे। क्योंकि जहाँ आप एक पेट्रोल कार से 6 रूपये में एक किलोमीटर की दूरी तय करते हैं वही एक Electric Car से मात्र 0.72 पैसे पर ही एक किलोमीटर की दूरी तय कर सकते हैं। यानी की 1 किमी. इलेक्ट्रिक कार चलाने का खर्चा 1 रूपये से भी कम पड़ेगा।

कम प्रदूषण

इन Electric Vehicles का सबसे बड़ा फायदा यह है कि पेट्रोल और डीजल वाहनों की तुलना मे बहुत कम प्रदूषण होता है। इन वाहनों मे इस्तेमाल होने वाले इलेक्ट्रिक मोटर बहुत कम प्रदूषण उत्सर्जन करते है।

रख रखाव में कम खर्चा

Electric vehicle में नार्मल गाड़ियों की तुलना में बहुत कम मेनटेनेंस कास्ट होती है। और इन्हें ज्यादा सर्विसिंग की भी जरूरत नही पड़ती है। जिससे आपके जेब का खर्चा भी बचता है।

कम ध्वनि प्रदूषण

इलेक्ट्रिक व्हीकल्स में शोर बिल्कुल भी नही होता है और नही इसमें किसी भी प्रकार का बाइब्रेशन महसूस होता है। यहाँ तक की इन वाहनों में स्पीकर द्वारा Artificial Sound को क्रिएट करना पड़ता है। जिससे पता चले की कोई वाहन चल रहा है।

इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुकसान या खामियां क्या है?

इन इलेक्ट्रिक वाहनों में फायदे के साथ-साथ कुछ नुकसान भी हैं जैसे-

चार्जिंग की समस्याएं

इसमें फिलहाल सबसे बड़ी चार्जिंग की समस्या का सामना हो रहा है। आप इसे लांग ड्राइव पर नही ले जा सकते हैं क्योंकि यदि रास्तें में बैटरी डिस्चार्ज हो गई तो फिर काफी दिक्कत हो सकती है।

कम चार्जिंग स्टेशन

अभी कुछ ही जगहों पर इलेक्ट्रिक व्हीकल को चार्ज करने का स्टेशन उपलब्ध है जिससे आप सभी जगह पर इसे नही ले जा सकते हैं। लेकिन इस पर काफी तेजी से कार्य किया जा रहा है।

कम पॉवर

पेट्रोल डीजल से चलने वाले वाहनों की तुलना में इलेक्ट्रिक व्हीकल कम पावर जनरेट करते हैं। यानी की फिलहाल इसे भारी वाहनों में यूज नही किया जा सकता हैं।

Electric vehicle battery charging time

अगर बात करें कि Electric vehicles battery को चार्ज करने का समय पूरी तरह से बैटरी के उपर निर्भर करता है। जितनी बड़ी बैटरी का यूज होगा उतना ही ज्यादा उसका चार्जिंग टाइम भी होगा। Electric vehicle battery charging time 30 मिनट से 12 घंटे तक हो सकता है।

Electric vehicle price in India – भारत में इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने वाली कंपनियां

भारत में कार बनाने वाली कंपनियां

कॉम्पनीमॉडलरेंजकीमत
टाटानेक्सन EV312 KM14 लाख रुपये
टाटाटिगोर EV142 KM9.55 लाख रुपये
हुंडाईकोना452 KM24 लाख रुपये
एमजी मोटरZS EV340 KM21 लाख रुपये
ऑडीई ट्रोन520 KM1.5 करोड़ रुपये

भारत में बाइक बनाने वाली कंपनियां

कंपनीमॉडलरेंजकीमत
अथर450X116 KM1.30- 1.50 लाख रुपये
बजाजचेतक EV95 Km1- 1.20 लाख रुपये
हीरोऑपटिमा EV50 Km45 हजार रुपये
TVSआई क्यूब EV75 KM1.10 लाख रुपये
कबीरKM 4000150 KM1.40 लाख रुपये

FAQ

क्या इलेक्ट्रिक कारों में इंजन होते हैं?

इलेक्ट्रिक कारों में internal combustion engine के बजाय इलेक्ट्रिक मोटर होती है। यह मोटर कार में रखे एक बड़े बैटरी पैक द्वारा पॉवर लेता है, जिसे wall socket या पोर्टेबल चार्जर के माध्यम से बार-बार चार्ज किया जा सकता है।

क्या हम घर पर इलेक्ट्रिक कार चार्ज कर सकते हैं? Can electric vehicle be charged at home?

हम इलेक्ट्रिक कार को घर पर चार्ज कर सकते हैं। लेकिन पबलिक स्टेशन पर चार्ज करना भी काफी सस्ता है।

इलेक्ट्रिक कार एक बार चार्ज में कितने किलोमीटर चलती है?

सामान्य तौर पर फुल चार्ज में 15 KMH बैट्री से कार 100 किलोमीटर तक चल सकती है। ऐसे में आप इलेक्ट्रिक कार की बैट्री के हिसाब से इसकी तय की जाने वाली दूरी का अंदाजा लगा सकते हैं। वहीं, टेस्ला की कुछ इलेक्ट्रिक कारें एक बार फुल चार्ज करने पर 500 से किमी तक भी चलती हैं।

Leave a Comment